क्यो खोदते हो जडे मेरी

क्यो खोदते हो जडे मेरी

तन्हा बंजर सी मरु भूमी पर उग आई साख मेरी क्यो खोदते हो जडे मेरी। माटी के इस बूत मे … पढ़ना जारी रखें क्यो खोदते हो जडे मेरी