सायम्भुवमनु, उत्तानपात व  ध्रुव का वंश वर्णन

सायम्भुवमनु, उत्तानपात व ध्रुव का वंश वर्णन

आपने पहले पढा कि सयाम्भुव मनु के छोटे पुत्र उत्तानपाद को मनु ने अपना राज्य का उत्तराधिकारी बना कर खुद … पढ़ना जारी रखें सायम्भुवमनु, उत्तानपात व ध्रुव का वंश वर्णन

त्रिदेव ( तीनो महादेव ) त्रिदेवियाँ ( तीनो महादेवियाँ ) की उत्पप्ति की कथा

त्रिदेव ( तीनो महादेव ) त्रिदेवियाँ ( तीनो महादेवियाँ ) की उत्पप्ति की कथा

जब भगवान नारायण ने सृष्टि की रचना करना शुरु किया तब उनके शरीर के किस अंग विशेष से किस शक्ति … पढ़ना जारी रखें त्रिदेव ( तीनो महादेव ) त्रिदेवियाँ ( तीनो महादेवियाँ ) की उत्पप्ति की कथा

सनातन धर्म ग्रंथो का विवरण

सनातन धर्म ग्रंथो का विवरण

भारतीय शास्त्रो मे देवी-देवताओ की जानकारियाँ दी गई है। सनातन धर्म के सिधांतो के संग सनातन धर्म के दर्शन पूजनिय … पढ़ना जारी रखें सनातन धर्म ग्रंथो का विवरण

भारतीय सनातन धर्म और अन्य पंथ

भारतीय सनातन धर्म और अन्य पंथ

भारत मे प्राचीनकाल से ही अपनी अनूठी पहचान लिए सनातन धर्म जो दुनिया के हीत की कामना करता है और … पढ़ना जारी रखें भारतीय सनातन धर्म और अन्य पंथ

शुद्ध भारतीय विचार धारा दुसरे धर्मो से भिन्न कैसे

शुद्ध भारतीय विचार धारा दुसरे धर्मो से भिन्न कैसे

धर्म को लेकर प्राचीनकाल से ही मार-काट होती रही है। प्राचीनकाल मे और अब मे फर्क बस इतना है कि … पढ़ना जारी रखें शुद्ध भारतीय विचार धारा दुसरे धर्मो से भिन्न कैसे

ब्रहमाण्ड रचना सृष्टि निर्माण

ब्रहमाण्ड रचना सृष्टि निर्माण

हमारे ब्रहमाण्ड की रचना कैसे हुई इसमे पहले हमने जाना की सबसे पहले नारायण ने सृष्टि बनाने के लिए रचना … पढ़ना जारी रखें ब्रहमाण्ड रचना सृष्टि निर्माण

कार्यक्षेत्र के अनुसार पूजनिय देवता

कार्यक्षेत्र के अनुसार पूजनिय देवता

लोग अपने इष्टदेव की पूजा तो करते ही है मगर वह अपने कार्य (रोजगार ) के अनुसार किस देवता की … पढ़ना जारी रखें कार्यक्षेत्र के अनुसार पूजनिय देवता

स्वर्ग,  नरक  या  मोक्ष  क्या है  सही  मार्ग

स्वर्ग, नरक या मोक्ष क्या है सही मार्ग

मनुष्य शद्दियो से इसी उहा- पोह मे फसा रहाँ कि स्वर्ग अच्छा या मोक्ष नरक किसी को पसंद नही पर … पढ़ना जारी रखें स्वर्ग, नरक या मोक्ष क्या है सही मार्ग

नवरात्रि का महत्व माता की कथा

नवरात्रि का महत्व माता की कथा

हमारी प्रकृति मे कुछ ऐसी विघटनकारी शक्तियाँ भी जन्म ले लेती है,जो सारी दुनियाँ को परेशान करती है और संहार करने लगती है। उन दुष्ट शक्ति के विनाश के लिए देवताओ को प्रयत्न करने पडते है। जब देवता लोग उन विघटनकारी शक्ति को नष्ट नही कर पाते तो वह भगवान की सरण मे जाते है और उनसे हमारी मदद के लिए प्रार्थना करते है। भगवान हम सभी लोगो की रक्षा के लिए देवताओ को उपाय बताते है,फिर देवता वही सब उपाय आजमा कर हम दुनियाँ वालो की रक्षा करने घरती पर प्रकट हो कर उन विघटनकारी शक्तियो को नष्ट कर के हमे सुरक्षा घेरा मे ले लेते है। पढ़ना जारी रखें नवरात्रि का महत्व माता की कथा

स्वच्छ आदते जो सुरक्षा देती है

स्वच्छ आदते जो सुरक्षा देती है

हम अपने जीवन को बिमारियो से बचाने के लिए बहुत से उपाय करते है। इसके साथ हमारे शरीर मे भी … पढ़ना जारी रखें स्वच्छ आदते जो सुरक्षा देती है